Friday, December 6, 2019

Best Poem On Justice Of Priyanka Reddy अब पापी की खैर नही बज चुका है बिगुल न्याय का

अब पापी की खैर नही बज चुका है बिगुल न्याय का 





पुलिस के द्वारा प्रियंका रेड्डी के कातिलो का सफाया करने पर तेलंगाना पुलिस को कोटिशः धन्यवाद और आज के बाद ऐसा ही हस्र होगा जो ऐसा करेगा, ऐसे ही मवालियों से हमारे देश की बदनामी  हो रही है, हमारे देश को आज के समय में दुसरे देश बहुत ही सम्मान भरी नज़र से देखते हैं, इज्जत करता है दूसरा देश  अपने इंडिया का, लेकिन ऐसे ही इस भारत माँ के पीठ पर विचर रहे इन्शानो के रूप में हैवानों की वज़ह से हमारे घर की बहु-बेटियां और हमारा देश सुरक्षित नही हैं, लेकिन आज इन कातिलो को सजा मिली, इससे देश की हर बेटियां खुश है, ऐसे हैवानों के साथ ऐसा ही करना चाहिए | आज के बाद कोई ऐसा करने को सपने में भी सोच ना सके कुछ ऐसे ही जोश भरी बातें इस अपनी लिखी कविता के माध्यम से प्रस्तुत कर रहा हूँ। जो निश्चय ही आपके दिल और  दिमाग को झकझोर देगा,  तो आइये पढ़ते हैं क्या है इस कविता में..

1
2
3
best-poem-on-justice-of-priyanka-reddy
******************
 अब पापी की खैर नही बज चुका है बिगुल न्याय का |

अब पापी की खैर नही जिस घर मे है बैठे रावण ||

अब उस घर की खैर नही आदत सा लग गया था सबको |

इनकी  हर हैवानी को क्षमा किया सरकार ने हरदम ||

समझ के इसे नादानी को धैर्य का बांध अब टूट गया है |
4

घड़ा पाप का फुट गया है करो न खुलकर सैर कही ||

बज चुका है बिगुल न्याय का अब पापी की खैर नही |

न्याय की गंगा निकल पड़ी है फिर से ऊंची पहाड़ो से ||

बच के रहना बता रहा मनी शब्दों के इशारों से |

गर जो जीने की इक्षा है इन धारो में तैर नही ||

बज चुका है बिगुल न्याय का अब पापी की खैर नही |

बज चुका है बिगुल न्याय का अब पापी की खैर नही ||

******************


-----जय हिन्द जय भारत -----


कवि :- मनीष कुमार तिवारी 


Post a Comment