Saturday, December 7, 2019

Motivational Poem In Hindi इरादों पर जमाने की नजर लगने नही दूंगा

Motivational Poem In Hindi

 इरादों पर जमाने की नजर लगने नही दूंगा 

Shayari_sangam

उठी है लेखनी मेरी तो हलचल क्यो नही होगा

थमी सी दिल की धड़कन में कोलाहल क्यो नही होगा |

जो छू ले दिल को पलभर में वही कोशिश है कि मैंने

अगर कोशिश में हसरत है तो हाशिल क्यो नही होगा |

इरादों पर जमाने की नजर लगने नही दूंगा 

जो मंजिल पा लिया फिर भी कदम रुकने नही दूंगा

ये दुनिया सोहरतो के साथ चलने के ही आदि है

जो असफल हो गया फिर भी कलम रुकने नही दूंगा ।


इरादे नेक रखता हूं मैं हरदम सच ही लिखता हूं


है वर्दी की कसम मुझको मैं भारत माँ का बेटा हु



जब तक रक्त का कतरा बचेगा मेरे इस तन में 



कसम मुझको तिरंगे की इसे झुकने नही दूंगा

कसम मुझको तिरंगे की इसे झुकने नही दूंगा

***जय हिन्द भारत माता की जय***

कवि:-मनीष कुमार तिवारी 








Post a Comment