Monday, December 2, 2019

Priyanka Reddy Murder Case ( सैनिक मनीष कुमार तिवारी ) के सीने में बदले की आग || हृदय में भरा है जो अंगार लिख रहा हूँ ||

हृदय में भरा है जो अंगार लिख रहा हूँ 

Priyanka Reddy Murder Case

आज कविता नही उद्गार लिख रहा हूँ 

हृदय में भरा है जो अंगार लिख रहा हूँ 

भारत माँ के आखो का अश्रुधार लिख रहा हूँ 

फिर से हुवा मानवता शर्मशार लिख रहा हूँ 

उजड़ गया परिवार, न्याय की गुहार लिख रहा हूँ  

आज कविता नही उद्गार लिख रहा हूँ 

भारत माँ  के आखो का अश्रुधार लिख रहा हूँ 

हृदय में भरा है जो अंगार लिख रहा हूँ 

नरभक्षी आजाद विचरते हर गुड़िया से हैवानीयत  करते

इंसानियत का बदलता व्यवहार लिख रहा हूँ 

नारी शक्ति पर हुआ अत्याचार  लिख रहा हु 

हृदय में भरा है जो अंगार लिख रहा हूँ

प्रियंका , निर्भया , आशिफ़ा के  बदले की गुहार लिख रहा हूँ 

आज कविता नही उद्गार लिख रहा हूँ 

भरा है जो हृदय में अंगार लिख रहा हूँ  

माँ भारती के आखो का अश्रुधार लिख रहा हूँ

बहुत हो गया दरिया दिली अब तो जागो नई दिल्ली 

क्या अब भी है नपुंशक सरकार लिख रहा हूँ

न्याय की प्रक्रिया में हो सुधार लिख रहा हूँ 

हृदय में भरा है जो अंगार लिख रहा हूँ  

नारी को सम्मान से जीने का दे दो अधिकार लिख रहा हूँ 

ऐसा इनको झटका को जो  युग का नया मिशाल बने 

लाल किले पर लटका दो जो नारी का अपमान करें 

मैं प्रियंका के कातिलो का अंतिम संस्कार लिख रहा हूँ 

बहुत हुआ मोदी जी अब दे दो एक अधिकार लिख रहा हूँ 


 लाल किले पर लटका दो आज उन दरिंदो को 

मैं  उनका का अंतिम संस्कार लिख रहा हूँ 

आज कविता नही उद्गार लिख रहा हूँ 

हृदय में भरा है जो अंगार लिख रहा हूँ


------- जय हिन्द  जय भारत ------



Sainik_Manish_Tiwari
Manish Tiwari 

कवि:-  सैनिक मनीष कुमार तिवारी
       मनी टैंगो



  1. नज़रे करम मुझ पर इतना न कर,
    की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,

    ReplyDelete