Friday, June 19, 2020

सुप्रसिद्ध कवि मनीष कुमार तिवारी जी की रचना Best Poem For Our Army Soldiers चीन तेरी अब खैर नही कब तक हम स्वीकार करेंगे-Shayari Sangam

शहीदों को भाव भीनी श्रदांजलि देते हुवे चीन को अपनी कविता के माध्यम से एक ललकार प्रेषित कर रहा हु ।
आप सभी के प्रोत्साहन की कामना के साथ प्रस्तुत है ।
Best Poem For Our Army Soldiers,mk tiwari poems,manish tiwari poem,mktiwaripoems,


चीन तेरी अब खैर नही..
कब तक हम स्वीकार करेंगे
अब हम भी हुंकार भरेंगे
सुन चीन तेरी अब खैर नही 
हम तेरे टुकड़े चार करेंगे

ये धोखेबाजी गद्दारी
क्यो करता है तू मक्कारी
तू दुश्मन है मानवता का
ये जानती है दुनियां सारी
तेरे नापाक इरादे को अब 

जंग की आग में दफन करेंगे
बांध के निकले कफ़न है सर पर
या फिर तेरा दमन करेंगे
या दुनिया से गमन करेंगे

बदला का जुनून है सर पर
अब सवार है खून मेरे सर पर
एक एक के प्राण हरेंगे
अब हम तेरे घर मे घुसकर
सीमा से बीजिंग तक अब
बस हिंदुस्तानी झंडा होगा

युद्ध नीति को बदल लिए हम
अब तो खूनी दंगा होगा
ये मत समझो माफ करेंगे
सर धड़ से तेरा काट अलग कर
पूरा हर हिसाब करेंगे
सुन चीन तेरी अब खैर नही 
हम वीरो का इंसाफ करेंगे



✍️मनीष कुमार तिवारी